Saturday , December 10 2016
loading...

क्या उसे पता चल जायेगा कि मैं वर्जिन नहीं हूँ

आंटी जी, अगले महीने मेरी शादी है और मैंने अपने पुराने बॉयफ्रेंड के साथ सेक्स कर लिया। क्या मेरे होने वाले पति को पता चल जायेगा कि मैंने पहले भी सम्भोग किया हुआ है? अगर उसे पता चल गया तो? मैं क्या करुँ?

बड़ा बवाल, छोटा सवाल

आंटी जी कहती है… ओये! रुक जा कुड़िये, सांस लेले ज़रा… तो तेरा चक्कर चल रहा था और अब तू डर रही है कि येरे पति को सुहागरात के दिन पता चल जायेगा। तो घबरा मत, नहीं चलेगा। हाँ अगर तू खुद ही बताना चाहे तो ज़रूर चल जायेगा, लेकिन उससे पहले मैं कुमारीत्व के बारे में ज़रा तेरी आखें तो खोल दू।

सबसे पहले बात करते है, इस सारे बवाल के मेन हीरो की, यानी योनिच्छद की। इसके बारे में जो जो तुझे पता है वो ऊपर लिखा है, और जो नहीं पता वो मैं आज बता देती हूँ। योनिच्छद के साथ ज़रा भी छेड़खानी हो तो यह टूट सकता है – भागना, साइकल चलाना, कूदना या कोई और खेल खेलने से यह हो सकता है, और तो और कई बार तो साधारण सी हरकत जैसे नीचे बैठ कर पोछा लगाने से भी टूट सकता है।

अब यह बात मेरी समझ से बाहर है कि मात्र योनिच्छद इस बात का प्रमाण कैसे हो सकता है कि एक लड़की ने कौमार्य खोया है या नहीं? और वास्तव में ऐसा होता है कि कई बार जब योनिच्छद बिना किसी मैथुन के बावजूद टूटता है तो लडकिया उसे मासिकधर्म समझ लेती है! जबकि ऐसा होना बेहद आम बात हैI

अजीबोगरीब उम्मीदें

हमारा यहाँ यह माना जाता है कि योनि में से खून आना एक लड़की की शुद्धता और सतीत्व का प्रमाण है, और यह होना भी पहली ही रात को ही चाहिए। तो अगर आम धारणा की बात करे तो पहली रात को सेक्स होगा और खून बहेगा!!

लग रहा है कि लड़की ना हुई कोई बलि का बकरा हो गयी। क्या बक़वास है यह। वैसे तो तुम लोग इतने मॉडर्न बनते हो लेकिन अभी भी सैकड़ो साल पुरानी ऐसी दकियानूसी बातों पर आँख मूंदकर विश्वास करते हो। कौमार्य को लेकर ऐसी बेहूदगी भरी बातों को फैलाने के असली अपराधी तुम्ही लोग हो। रही बात खून की, तो दो बूँद ही टपकता है। ऐसा नहीं है कि कोई खून की नदिया बह जाती है। टपका तो ठीक और नहीं टपका तो? लड़की बेकार है.. है ना?

यहाँ यह सवाल उठता है, कि आपका रिश्ता किस बात पर आधारित है? इस बात पर कि कोई आपको कितना प्यार करता है यह फ़िर इस बात पर कि आप उसकी ज़िंदगी में आने वाली पहली स्त्री है? क्या बात है !!!

इस हिसाब से तो जब कोई लड़का किसी लड़की से मिलने आये तो लड़की को यह बोलना चाहिए, “हैलो मेरा नाम नेहा/शगुफ्ता/हरप्रीत/डॉली है… और आप मेरी ज़िंदगी में आने वाले ऐसे पहले मर्द है जिनसे मैं हमबिस्तर होने वाली हूँ”I

सबूत लाओ

मुझे पता है कि तू क्या सोच रही होगी। “आपको नहीं पता आजकल के मर्द कैसे होते है, उन्हें ‘कुंवारी’ लड़कियां चाहिए होती है”.. हाँ हाँ मुझे नहीं पता, लेकिन तुझे तो पता है ना, कि आदमियों को अनछुई लड़कियां चाहिए होती है और इस बात का सबूत भी चाहिए होता है। तो तुझे क्या चाहिये? सबूत देने वाले को दिया जाने वाला ‘तमगा’? अगर ऐसा कुछ है तो…

तो मतलब इस बात से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता कि कोई लड़की सुन्दर है, सुशील है, महत्त्वाकांक्षी है, बोल चाल में मधुर है?

निशा तू पहले जाकर ‘माउंटेन डीउ’ पी और इस डर से आगे बड़। एक बार यह ‘कौमार्य खोने’ की शर्म जब ख़त्म हो जाएगी तब शायद तुम इस बात पर ठन्डे दिमाग से गौर कर सकोगी।

एक और बात

एक ज़रूरी बात यह है कि आदमियों के पास क्या सबूत है? वो क्या दिखाएंगे अपनी विश्वसनीयता के लिए? कुछ नहीं, है ना? सिर्फ वो जो कहे वो मान लो, है ना? और तुम अपनी पूरी ज़िन्दगी उसी बात को मान कर चलती हो। तो फ़िर हो गया फैसला, जब सवाल एक है तो जवाब देने का तरीका भी एक होना चाहिए? जब तुम पुरुषो की बात मानते हो तो उन्हें भी तुम्हारी बात माननी चाहिए।

मुझे गलत मत समझना, मेरा मतलब यह नहीं है कि तुझे उससे कुछ छुपाना चाहिए। अगर तुझे लगता है कि वो यह सच सुनने की हिम्मत रखता है तो बेहिचक बोल। लेकिन अगर तुझे ज़रा भी शक़ है कि यह सुनकर उसके पैरो तले की ज़मीन खिसक जायेगी तो मेरी लाडो रहने दे उसे अँधेरे में। ऐसे सच का क्या फ़ायदा जो रिश्ते में ही दरार डाल दे। यहाँ यह भी ज़रूर सोचना कि क्या ऐसी आदमी के साथ तू अपनी पूरी ज़िंदगी गुज़ार सकती है जिसकी सोच इतनी घटिया हो?

बेटा जी, सच को निगलना थोड़ा मुश्क़िल काम है।

अब क्या करना है

तो बेटी एक गहरी सांस ले और इस ‘क्या होगा’ की कशमकश से बाहर निकल। क्या होगा अगर उसका शिश्न छोटा निकला तो? क्या होगा अगर उसे शीघ्रपतन की बीमारी हुई तो…? क्या होगा अगर उसे योनि और धोनी के बीच में फ़र्क़ ना पता हो? क्या करेगी तू तब?

अपनी बसी बसाई गृहस्थी छोड़ देगी… नहीं ना? तू इन सवालो के जवाब खोज कर चीज़े फ़िर ठीक कर लेगी। तो मेरी लाडो अभी भी तो यही करना है।

अच्छा यह सब छोड़, यह बता तेरा लहंगा सिल गया ? ब्लाउज फिट आ रहा है ना? और मेकअप के लिए तो उस पिल्लई लड़की को ही बुला लियो, मैंने सुना है बढ़िया हाथ चलता है उसका। और हो सके तो एक दो बार अपने होने वाले पति के साथ डेट-शेट मार के आ। पलक झपकते ही शादी हो जायेगी, यह दिन फ़िर नहीं आने वाले।

loading...

One comment

  1. Thanks, but all peblic KO sex exceprince nahi hota hh ,I am a village boy best sex ki jankary rakhtahu ki lades me child na ho or sex enjoy ke liye call car sakti ho I Iive in 7062872298jodhpur

Leave a Reply

Your email address will not be published.

loading...