loading...

हस्तमैथुन करने के नुकसान जाने- Side Effects of Masturbation in Hindi

0

हस्तममैथुन

हस्तमैथुन पुरुषों में निर्मित और महिलाओं में लजाता हुआ एक अभ्यास है। लेकिन आप हस्तमैथुन से बच नहीं सकते, यह जीवन का एक हिस्सा है। हस्तआमैथुन से जुड़े कुछ तथ्यथ और अफवाहें हैं जिनसे आप बच नहीं सकते हैं। आइए हम इस वर्जित विषय पर बात करते है।

हस्तचमैथुन के फायदे

स्खलन के माध्यम से राहत, मज़ा और खुशी के लिए क्लाइमेक्स, अच्छीु नींद में सहायक, तनाव कम करने और रिलेक्स  करने में मददगार आदि हस्तमैथुन के सकारात्मक पक्ष प्रभाव से आप भी सहमत होंगे। साथ ही हस्त मै‍थुन करते समय घावों से बचने और वापस सामान्य स्थिति में आने में मदद करने के लिए जननांगों पर सौम्य होना बहुत जरूरी होता है।

हस्तमैथुन के साइड इफेक्ट

युवावस्था  में हस्तमैथुन की शुरुआत की सबसे ज्यासदा संभावना रहती है और ऐसा होने पर दिन में बार-बार हस्तमैथुन करने का मन करता है। आमतौर पर मैथुन करने के लिए पुरुष अपने हाथ का प्रयोग करते हैं। वैसे तो हस्तममैथुन के कोई नुकसान नहीं हैं, लेकिन कई बार गलत ढंग से या ज्या दा मैथुन करने के गंभीर परिणाम हो सकते है।

लिंग में सूजन

जल्दीम-जल्दीह मैथुन करने से भी लिंग की मासपेशियों में वीर्य के पहले निकलने वाला द्रव मांसपेशियों में चला जाता है, जिसके कारण लिंग में सूजन आ जाती है। यह सूजन तब तक रहती है, जब तक वो द्रव वापस रक्त में नहीं चला जाता।

लिंग की मांसपेशियों का टूटना

मैथुन करते समय अपने लिंग को कस कर दबाने या मोड़ने का प्रयास हानिकारक हो सकता है इससे’पायरोनी’ नाम की बीमारी हो सकती है। यही नही पेनाइल फ्रेक्चसर भी हो सकता है यानी आपके लिंग की मांसपेशियां टूट सकती हैं। पायरोनी होने पर लिंग टेढ़ा हो जाता है मांसपेशियों में तनाव होने की स्थिति में आप उसके टेढ़ेपन को आसानी से देख सकते हैं।

शुक्राणु की संख्या  पर असर

नियमित रूप से कई बार हस्तामैथुन करने से पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्याम कम होने लगती है। इसका असर उनकी पिता बनने की क्षमता पर भी पड़ता है।

मनोवैज्ञानिक प्रभाव

हस्तमैथुन घबराहट और न्यूरोलॉजिकल समस्याएं पैदा करता है। हस्तमैथुन आपके मन और आत्मा में तनाव और दबाव का कारण बनता है। इसके अलावा हस्तमैथुन आपको मनोवैज्ञानिक तौर पर प्रभावित करता है। यह स्खलन के बाद अवसाद पैदा करता है और व्य क्ति खुद को बुरा महसूस लगता है।

संतुष्टी  की कमी

नियमित रूप से हस्त मैथुन करने से आपको संतुष्टआ होने में अधिक समय लगता है। इसके साथ ही आपका वीर्य स्खहलित होने का समय भी बढ़ जाता है। इसके अलावा हस्तममैथुन की आदत इरेक्टाइल डिसफंक्शन रोग का मुख्यि कारण होती है।

अवैध संपर्कों की खोज

हस्त मैथुन आपको अवैध संपर्कों की ओर ले जाता है क्योंंकि इसकी उत्तेजना दिन ब दिन बढ़ती जाती है और अंत में यौन सुख के लिए आप अन्यं स्रोतों को ढूढ़ने लगते हैं।

पार्टनर से तकरार

हस्तमैथुन संभोग के दौरान तेजी से शुक्राणु के रिलीज होने का मुख्य कारण है। इससे आपके और आपकी पत्नी के बीच असंतोष पैदा हो सकता है।

चयापचय पर असर

हस्तचमैथुन के दौरान जारी प्राथमिक द्रव में प्रोटीन होता है जो कई चयापचय गतिविधियों और सेल संरचनाओं के लिए आवश्यक होता हैं। प्रोटीन हमारे शरीर की बिल्डिंग ब्लॉक है। स्खलन अक्सर आपको दुबला बनाता हैं और मांसपेशियों के निर्माण के लिए चयापचय का ध्यान खींचता है।

loading...

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.